! अब लिखो बिना डरे !

शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

557 Posts

1411 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12171 postid : 789748

चली राम की सेना रावण का दंभ मिटाने !

Posted On: 27 Sep, 2014 Celebrity Writer,Religious में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


धर्म पताका फहराने , पापी को सबक सिखाने ,

चली राम की सेना रावण का दंभ मिटाने !

हर हर हर हर महादेव !


रावण के अनाचारों से डरकर  वसुधा है डोली ,

दुष्ट ने ऋषियों के प्राणों से खेली खून की होली ,

सत्यमेव जयते की ज्योति त्रिलोकों में जगाने !

चली राम की सेना ……………………

हर हर हर हर महादेव !


तीन लोक में रावण के आतंक का बजता डंका ,

कैसे मिटेगा भय रावण का देवों को आशंका ?

मायावी की माया से सबको मुक्ति दिलवाने !

चली राम की सेना ……………………

हर हर हर हर महादेव !


जिस रावण ने छल से हर ली पंचवटी से सीता ,

शीश कटे उस रावण का , करें राम ये कर्म पुनीता ,

पतिव्रता नारी को खोया सम्मान दिलाने !

चली राम की सेना ……

हर हर हर हर महादेव !


एकोअहम के दर्प में जिसने त्राहि त्राहि मचाई ,

उस रावण का बनकर काल आज चले रघुराई ,

निशिचरहीन करूंगा धरती अपना वचन निभाने !

चली राम की सेना …………………

हर हर हर हर महादेव !


शिखा कौशिक ‘नूतन’



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Santlal Karun के द्वारा
October 1, 2014

आदरणीया शिखा जी, सार्थक सन्दर्भ के साथ दशहरा पूर्व की यह रचना अधिक अर्थवान बन पडी है, हार्दिक साशुवाद एवं सद्भावनाएँ !

एल.एस. बिष्ट् के द्वारा
September 30, 2014

शिखा जी, सामयिक रचना । सुन्दर ।

रमेश भाई आँजना के द्वारा
September 29, 2014

वाह,,बहुत खूब,, लाजवाब

shakuntlamishra के द्वारा
September 27, 2014

रघुवर का चरित ,रावण का मरण दोनों कितना सुकून देता है ! दशहरे की बधाई

Shobha के द्वारा
September 27, 2014

प्रिय शिखा जी दशहरा के अनुरूप बड़ी ही प्यारी कविता आपने लिखी हैं डॉ शोभा

Jaynit Kumar Mehta के द्वारा
September 27, 2014

उम्दा रचना..बधाई!! :) )


topic of the week



latest from jagran