! अब लिखो बिना डरे !

शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

556 Posts

1411 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12171 postid : 738493

''यह भारत-वर्ष महान है !''

Posted On: 5 May, 2014 कविता,Celebrity Writer में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कण-कण में  स्वर्णिम आभा है ,

निर्मलता यहाँ के तृण-तृण में  ,

सरस्वती का वर-स्वरुप

यह भारत-वर्ष महान  है !

…………………………………….

महापुरुषों की  प्रिय -भूमि  ,

सज्जनता की  है ये मशाल  ,

धर्म की सुरभि चहुँ -दिशा  में ,

हाँ ! इस  पर  हमको  अभिमान  है !

यह भारत-वर्ष महान  है !

…………………………………….

राम हुए बलराम हुए ,

हुए यहाँ पर बनवारी  ,

गौतम -गांधी  के हाथों  फिर

फूली भारत की फुलवारी ,

वीरो का तीर्थ-स्थान है !

यह भारत-वर्ष महान  है !

………………………………………………

झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई ,

भगत सिंह का देश है ,

आज़ादी रहे अटल इसकी ,

दुश्मन के प्रति आवेश है ,

तन-मन-धन सब कुर्बान है !

यह भारत-वर्ष महान  है !

जय हिन्द ! जय भारत !



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

May 5, 2014

sarthak v sundar abhivyakti .


topic of the week



latest from jagran