! अब लिखो बिना डरे !

शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

569 Posts

1437 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12171 postid : 678412

खून सने हाथ और 'कमल' रहा थाम !!!!!!!

Posted On: 30 Dec, 2013 Junction Forum,Celebrity Writer,Hindi News में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

[context-, Rajnath compares BJP's PM nominee to Ram]

अधर्म-रथ को ले चला सारथी बेईमान ,
सत्ता के लिए मचलता सारथी बेईमान !
……………………………………….
सत्ता की है ख्वाहिश बेचते ईमान ,
रावण नज़र आता इन्हें भगवान श्री राम !
………………………………………………..
है अहम् इस बात का हम चालबाज़ हैं ,
इनके लबों पर नाचती कितनी कुटिल मुस्कान !
……………………………………………………….
करने लगा राज का ही नाथ पथभ्रष्ट ,
कंस को कहकर कृष्ण कर रहा बदनाम !
…………………………………………
ये नहीं चाहते रहें मिलजुल के हम इस मुल्क में ,
इनको नज़र आते हैं हम हिन्दू व् मुसलमान !
………………………………….
क़त्ल कर के बेगुनाह का काट कर इंसानियत ,
खून सने हाथ और ‘कमल’ रहा थाम !!!!!!!

शिखा कौशिक ‘नूतन’
………………….



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

5 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

RAHUL YADAV के द्वारा
January 1, 2014

बहुत खूब …रचना । 

RAHUL YADAV के द्वारा
January 1, 2014

सत्ता की है ख्वाहिश बेचते ईमान , रावण नज़र आता इन्हें भगवान श्री राम !ुू

sadguruji के द्वारा
January 1, 2014

आदरणीया डॉक्टर शिखा कौशिक ‘नूतन’ जी बहुत सही कहा है आपने- क़त्ल कर के बेगुनाह का काट कर इंसानियत , खून सने हाथ और ‘कमल’ रहा थाम !!!!!!!नववर्ष की बधाई.

dhirchauhan72 के द्वारा
December 31, 2013

अब और सहा ना जायेगा , अब और रहा न जाएगा ! ये लूट खसोट संग बलात्कार , अब और सता न पायेगा !! सुनो विदेशी खूनी पंजे , अब नहीं रहे वो अकल के अंधे ! बापू जी की खाल ओढ़ के , अब और बाँट ना पायेगा !! माँ का ह्रदय चीरने वाले , मासूमो का हक़ छीनने वाले ! माँ के प्यारे बेटो के सर , अब और कटा ना पायेगा !! गद्दारों का मान बड़ा कर , देश हितों की बलि चढ़ा कर ! रंगे सियारो मान भी जाओ , इस बार सजा तू पायेगा !!

December 30, 2013

सार्थक अभिव्यक्ति .आपको नव वर्ष की बहुत बहुत शुभकामनाएं .


topic of the week



latest from jagran