! अब लिखो बिना डरे !

शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

570 Posts

1437 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12171 postid : 669681

दें दूंगा मैं तलाक जो आँख दिखाई !!

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Young brunette beauty or bride, behind a white veil - stock photo

बेगम तो फ़िक्र करती है शौहर की सुबह-शाम ,
बेफिक्र होकर बीतती शौहर की सुबह -शाम !
…………………………………………………….
बेगम के सिर में दर्द है बेहाल हो रही ,
नुक्कड़ पे ताश खेलते शौहर जी सुबह-शाम !
……………………………………………….
दें दूंगा मैं तलाक जो आँख दिखाई ,
इन धमकियों में दहलती बेगम की सुबह-शाम !
…………………………………………………….
बेगम क्यूँ फ़िक्र करती हो बच्चा नहीं हूँ मैं ,
छोड़ो ये पहरेदारी शौहर की सुबह-शाम !
…………………………………………………………
बेगम गयी है ‘नूतन’ जिस दिन से मायके ,
कटती है इत्मीनान से शौहर की सुबह-शाम !

शिखा कौशिक ‘नूतन’



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

harirawat के द्वारा
December 16, 2013

ज़माना बदल गया है बेगम के हाथ कमान, अब बीतेगी नहीं मिंया की सुख से सुबह शाम ! सुख से सुबह शाम, तलाक की धमकी नहीं मिलेगी, जब मिंया बीबी राजी कलियाँ तभी खिलेंगी ! बीबी कितने भी आँख दिखाए तलाक तलाक नहीं कहेगा, शौहर बेचारा कीचन में जाकर बेगम बेगम कहेगा ! हरेन्द्र

December 14, 2013

सही विश्लेषण .


topic of the week



latest from jagran